CHUNAV-03

मानक

चुनावी तस्वीर

अब आयेगी चुनावी तस्वीर

अब बदलेगी सबों की तकदीर

बहुत हीं झेला हे सबो ने दंस

महाबलियो में बहुत से थे कंस

इनके काले कारनामो ने खेल बिगारा

स्वंय भारत बन गया एक बेचारा

जनता करती रही त्राहीमाम

अब जनमत ने इनको किया सलाम

इनसे दूर रहने में हें सबकी भलाई

ये आपस में हें भाई – भाई

सबने किया हे अपना वोट

जनमत ने निकला अपना खोट

लुटे बांटे ऐसे पैसे

धरती विरक्ष बने हों जेसे

अब करनी का फल भोगेंगें

घरनी घर को, जोगेगे

चुकता होगा सब हिसाब

जनता मांगे अब इंसाफ

इनकी हार कोई सजा नही

बाजा इनका बजा नही

देखुं में भी कुदरत के खेल

इनका आपस में कैसा मेल

लुटे खाये नोट बटोरें

हो गये ये भी, बांके छोरे

अब प्रात:काल खुले तस्वीर

जनता प्यासी देती चीर

ये पानी का भी प्यासे हें

अजब गजब के तमासे हें

कल का सूरज कुछ लाल होगा

इनके लिये काल हीं होगा

उम्मीद भर कर आज कविता करता बंद

अब समय बचा हे कुछ हीं छंद

¼ pquko ckn मेरे भारत में ½ रमेश यायावर .15- 05–2014nksigj ¼3½ rhu ctsA 

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s